सोशियोलॉजी को हिंदी में क्या कहते हैं? Sociology Ko Hindi Me Kya Kehte Hain

Posted on

दोस्तों, इस लेख में हम जानेंगे कि सोशियोलॉजी (Sociology) को हिंदी में क्या कहते हैं। सोशियोलॉजी, सामाजिक विज्ञान (Social Science) का एक महत्वपूर्ण अंग है। सोशियोलॉजी में मूल रूप से मानव जाति के इतिहास, उत्पत्ति एवं विकास के बारे में पढ़ा व रिसर्च किया जाता है।

सोशियोलॉजी की हिंदी – Sociology in Hindi Meaning

दोस्तों, सोशियोलॉजी को हिंदी में समाजशास्त्र कहते हैं। यह समाज विज्ञान का एक बहुमूल्य अंग है। इस विषय के माध्यम से हम मानव जाति के सम्पूर्ण इतिहास व उत्पत्ति से लेकर; आज जिस सभ्यता से जी रहे हैं – इस विकास के पूरे सफर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सोशियोलॉजी में क्या पढ़ाया जाता है?

सोशियोलॉजी एक बहुत ज़्यादा विशाल विषय है जो अपने अंदर समाज के बहुत सारे छोटे-बड़े विषयों को समेटे हुए है। सोशियोलॉजी विषय में समाज में हो रहे या हो चुके, किसी भी प्रकार के कोई बदलाव व विकास को गहराई से समझ के उसकी थ्योरी बनाकर संग्रहित किया जाता है। इससे हमें, समाज के किसी भी पहलू का उत्तर बहुत ही आसानी से मिल जाता है।

आईये इस बात को एक सरल उदहारण के साथ समझते हैं, आज इस आधुनिक युग में हम लोग आवासीय इलाकों में पक्के घरों के अंदर रहते हैं, पर पुराने समय में मनुष्य जंगलों में जानवरों की तरह ही रहता था। तो इतना बड़ा बदलाव आखिर कैसे आया – सोशियोलॉजी या समाजशास्त्र में हम ऐसी चीज़ों की बारीकी से पढाई करते हैं। मनुष्य की विचारधारा में ऐसी व्यवस्था क्यों, कब और कैसी आयी ? आखिर उसने ऐसी व्यवस्था क्यों अपनाई ? इसके क्या फायदे व नुक्सान हुए?

आज के युग में हम टेक प्रोडक्ट्स जैसे मोबाइल फ़ोन, कंप्यूटर पर निर्भर हो चुके हैं तो इसपर भी एक सोशियोलॉजी थ्योरी बन सकती है। इस विषय का ज़्यादा ध्यान रहता है कि किसी भी बदलाव से मानव समाज की विचारधारा पर क्या प्रभाव पड़ता है? उसके जीवन पर क्या असर आता है इत्यादि। कुल मिलकर इस विषय में समाज के अंदर मानव समाज की विचारधारा जैसे सूक्ष्म विषय को लेकर समाज में किसी प्रकार के चलन जैसे बड़े विषय सभी सम्मलित रहते हैं।

कुछ प्रसिद्ध समाजशास्त्र थ्योरियाँ:

  • तीन स्तरों का नियम/ लॉ ऑफ थ्री स्टेजेस – ऑगस्त कोम्ट
  • डार्विन थ्योरी ऑफ सर्वाइवल ऑफ द फिटेस्ट

सोशियोलॉजी इन हिंदी – महत्वपूर्ण नोट्स

  • सोशियोलॉजी को हिंदी में समाजशास्त्र कहते हैं।
  • इसकी खोज व निर्माण का श्रेय सर्वप्रथम “अगस्त काम्टे” (August Comte) ने की थी। यह एक फ्रेंच दार्शनिक (Philosopher) थे।
  • अगस्त काम्टे (August Comte) को समाजशास्त्र का पिता – Father of Sociology कहा जाता है। इन्होंने ही समाजशास्त्र में वैज्ञानिक सिद्धांत (Scientific Methods) जोड़े थे।
  • भारत में सोशियोलॉजी – समाजशास्त्र का जनक “जी० एस० घुरये” (G.S. Ghurye) को कहा जाता है।

सोशियोलॉजी कोर्स सिलेबस, स्कोप एवं जॉब

अब हम जानेंगे कि सोशियोलॉजी यानि समाजशास्त्र विषय के सिलेबस (syllabus) की मुख्य रेखा – outline क्या है और इसका कोर्स करने से किस तरीके की जॉब (job) मिल सकती है। अंत में यह भी जानेंगे कि इसके अन्य क्या – क्या स्कोप (scope) हो सकते हैं।

सोशियोलॉजी को हिंदी में क्या कहते हैं

सोशियोलॉजी (समाजशास्त्र) कोर्स व सिलेबस की रूपरेखा

नीचे दी गयी लिस्ट में समाजशास्त्र में मूलतः पढ़ाये जाने वाले टॉपिक दिए गए हैं :

  • समाजशास्त्र के मूलभूत सिद्धांत
  • भारतीय समाज: संरचना एवं परिवर्तन
  • समाजशास्त्र की अनुसन्धान पद्धतियाँ एवं विश्लेषण
  • समाजशास्त्री चिंतक
  • स्तरीकरण एवं गतिशीलता
  • कार्य एवं आर्थिक जीवन
  • राजनीति एवं समाज
  • धर्म एवं समाज
  • नातेदारी की व्यवस्थाएं
  • आधुनिक समाज में सामाजिक परिवर्तन
  • भारत में औद्यगिकीकरण एवं नगरीकरण
  • आधुनिक भारत में सामाजिक आंदोलन
  • सामाजिक रूपांतरण की चुनोतियाँ

सोशियोलॉजी (समाजशास्त्र) जॉब व स्कोप

दोस्तों, सोशियोलॉजी पढ़ने के लिए आप सोशियोलॉजी से बी०ए० व एम०ए० कर सकते हैं। इसे करने के बाद आप निचे दी गयी लिस्ट में लिखी नौकरियों/पद के लिए चयनित (select) किये जा सकते हैं:

  • सोशल वर्कर/समाज सेवी
  • जर्नालिस्ट/पत्रकार
  • प्रशासनिक सेवा अधिकारी
  • सुधर गृह काउंसलर
  • सर्वे रिसर्चर
  • फॅमिली काउंसलर
  • कंटेंट राइटर (सोशियोलॉजी)
  • एच०आर०/ह्यूमन रिसोर्स स्पेशलिस्ट (*पर आपको ह्यूमन रिसोर्स का अलग से कोई कोर्स करना रहेगा)
  • सर्वे/जनगणना जैसे कार्याधिकारी
सोशियोलॉजी समाजशास्त्र का चित्रण

धन्यवाद दोस्तों, अभी के लिए बस इतना ही, अगर आपको इस विषय व पोस्ट के सम्बन्ध में कुछ कहना या पूछना हो तो नीचे कमेंट कर के पूछ सकते हैं। आपके सुझाव हमारी प्राथमिकता हैं।


हिन्दी में सोशियोलॉजी विषय को क्या कहते हैं ?

सोशियोलॉजी विषय सामाजिक विज्ञान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, इसे हिंदी में समाजशास्त्र कहते हैं।

समाजशास्त्र को इंग्लिश में क्या कहते हैं ?

समाजशास्त्र को इंग्लिश यानि अंग्रेजी में सोशियोलॉजी कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *